नई शिक्षा नीति क्या है? कब से लागू होगा पूरी जानकारी यहां पढ़ें। What is the new education policy In India ?

Education Policy : नमस्कार दोस्तों आज आप सभी को शिक्षा का महत्व के बारे में एक बताने की मैं कोशिश कर रहा हूं जिसमें शिक्षा किसी भी देश व समाज के लिए बहुत ही आवश्यक होता है, शिक्षा ही एक ऐसा चीज है या फिर कर सकते हैं कि कैसा माध्यम है जिससे सभी को एक धागे में पिरोने का काम करती है इसी शिक्षा को और भी विस्तृत रूप देने के लिए हमारे वर्तमान की सरकार ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 का एक कानून के रूप में लाया है जो कि बहुत ही अच्छा है।
सभी को शिक्षा पाना जरूरी और अधिकार भी है ?

शिक्षित होना क्यों जरूरी है ?

आम भाषा में हम कह सकते हैं कि बिना शिक्षा के हम मिट्टी के ढेले के समान है, और कहा भी गया है कि शिक्षा शेरनी का दूध है जो एक बार पी लिया वह हमेशा दहाड़ता ही रहेगा। अगर आप शिक्षित हैं तो आपको कहीं पर, किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होगा अन्यथा एक छोटी से छोटी काम के लिए आपको दूसरे पर निर्भर रहना पड़ेगा इसलिए हम सभी को शिक्षित होना बहुत ही जरूरी है।

भ्रष्टाचार को खत्म करने में शिक्षा का अहम योगदान होता है ?

साथियों जैसा कि हम सभी रोजमर्रा की जिंदगी में किसी ना किसी कार्यालय या ऑफिस का चक्कर लगाने पड़ते हैं, जहां हमारे देश में ऐसे संस्कार बन गए हैं कि बिना घूस के आपको कोई काम होगा ही नहीं। इसलिए इसे खत्म करने का सबसे बड़ा जो हथियार है वह शिक्षा है क्योंकि अगर हम शिक्षित रहेंगे तो अपने देश के कानून को अच्छी तरह से समझ सकेंगे और किसी भी प्रकार के गलत या अच्छे काम में घुस के रूप में पैसे देने की जरूरत नहीं पड़ेगा।अन्यथा अगर वह हमसे घूस मांगेगा भी तो हम उसका डटकर विरोध करेंगे क्योंकि हम अपने देश के कानून के बारे में अच्छे से अध्ययन कर चुके हैं। इसलिए शिक्षा बहुत ही जरूरी होता है।

शिक्षा में नई नीति लाने की जरूरत क्यों पड़ी ?

शीशा हो या किसी भी कानून हो उसमें समय-समय पर सुधार अवश्य होते रहना चाहिए इससे होता क्या है कि आप को आधुनिक से आधुनिक चीजों के बारे में हमेशा अपडेट रहना होता है। जिससे कि आपको नई नई चीजों की जानकारी आसानी से मिलती रहती है हमारे देश में शिक्षा में जो अंतिम बार सुधार हुआ था वह 1986 ईस्वी में हुआ था और उसमें संशोधन 1992 ईस्वी में हुआ था। उसके बाद हमारे देश में शिक्षा नीति में किसी भी प्रकार का कोई संशोधन नहीं हुआ था।

संशोधन में कुछ खामिया भी थी जिसे पिछली सरकारों द्वारा सुधारा जा सकता है। लेकिन ऐसा किया नहीं गया लेकिन वर्तमान की जो सरकार है उसने शिक्षा को प्राथमिकता दी और नई शिक्षा नीति 2020 के रूप में एक नई कानून को मूर्त रूप दिया, जो कि देश और समाज के लिए बहुत ही कारगर साबित हुआ।

Also Read : What is paramedical in Hindi पारा मेडिकल कोर्स क्या है? पूरी जानकारी हिंदी में पैरामेडिकल में कितने कोर्स होते हैं ?

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 क्या है ?

देश की शिक्षा व्यवस्था को सुधारने के लिए सरकार के द्वारा नई शिक्षा नीति लागू करने की घोषणा 29 जुलाई 2020 को की गई थी इससे देश की शिक्षा व्यवस्था में सुधार होगा और छात्र एवं छात्राओं को काफी लाभ होगा .

  • योजना का नाम नई शिक्षा नीति 2020
  • केंद्र या राज्य केंद्रीय योजना
  • लागू होने की तिथि 29 July 2020
  • उद्देश्य शिक्षा के स्तर को और भी उन्नत बनाना
  • लाभार्थी भारत के सभी छात्र और छात्राएं

सरकार को नई शिक्षा नीति 2020 लाने की जरूरत क्यों पड़ी ?

हमारे देश में जब से संविधान लागू हुआ था उस समय से ही शिक्षा के लिए मानव संसाधन विभाग था। लेकिन आज की वर्तमान सरकार ने शिक्षा मंत्रालय को अलग से बना दिया है जिसका जीता जागता उदाहरण नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 है। इससे जो आम घर के बच्चे हैं उनको उच्चतम शिक्षा के लिए बहुत ही लाभ मिलेगा उनके पढ़ाई में पैसों की बाधा बहुत कम आएगी। और इसके लिए सरकार प्रतिबद्ध भी है। गरीब से गरीब के बच्चों को उच्चतम शिक्षा की ओर ले जाया जाए और वहां उन्हें अच्छी शिक्षा देने की पूरी व्यवस्था की जाए। इसी कड़ी को देखते हुए हमारे वर्तमान की सरकार ने नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 को एक कानून के रूप में हम सभी के बीच में लाया है। सरकार के इस कदम को बहुत ही लोगों ने सराहा है और यह बहुत ही क्रांतिकारी कदम है, इससे भारत के हर एक बच्चे को भविष्य में बहुत ही लाभ होगा और गरीब से गरीब बच्चा भी आगे की पढ़ाई आसानी से कर सकते हैं।

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 में 5 + 3 +3 + 4 का मतलब क्या है ?

दोस्तों हमारे देश में जो पहले की शिक्षा नीति थी वह 10+2 की नीति पर ही आधारित थी।परंतु अब जो नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 आई है उसमें 5+ 3 + 3+ 4 को महत्व दिया गया है। ये जो नीति है इसमें देश के बच्चे को 3-8,8-11,11-14,14-18 वर्ष के सभी उम्र के बच्चों को चार अलग-अलग हिस्सों में बांट दिया गया है प्रथम हिस्सा में प्राइमरी से दूसरी कक्षा तक, दूसरी हिस्सा में तीसरी से पांचवी कक्षा तक, तीसरी हिस्से में छठी से आठवीं कक्षा, तक और चौथे हिस्से में नौवीं से 12वीं कक्षा तक को इस में रखा गया है।

नई शिक्षा नीति को कब से लागू किया गया है ?

वर्ष 2020 में जब से नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति का कानून आया है तो सरकार ने इस पर विशेष रूप से ध्यान दिया है कि पूरे देश में जल्द से जल्द इस कानून का लागू होना बहुत ही जरूरी है भारत के 2 बड़े राज्यों कर्नाटक और मध्य प्रदेश ने इस कानून को सबसे पहले अपने राज्यों में लागू कर दिया है।और जल्द ही अब भारत के बाकी बचे राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश में इस कानून को पूर्ण रुप से लागू कर दिया जाएगा।

भारत के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में उच्चतर शिक्षा में इस कानून को अभी लागू कर दिया गया है ?

उत्तर प्रदेश सरकार ने नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 को अपने यहां जो उच्चतर शिक्षा होता है, जैसे स्नातक,स्नातकोत्तर और भी जितने भी उच्चतर शिक्षा स्तर है उनमें यह नीति को लागू कर दिया गया है। बाकी की जो निम्नतम शिक्षा स्तर है उनमें भी सरकार इसपर पर लागू करने को बहुत जल्दी विचार कर रही है। इस कानून को पूरे देश में जल्द ही लागू होना बहुत ही जरूरी है, जो कि इस पर पूरा जोर – शोर से काम चल रहा है और कुछ ही महीनों में नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 पूरे देश में लागू हो जाएगा।
नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति भारत के भविष्य को संवारने में अहम रोल अदा कर सकती है।

Also Read : Bihar ITI 2023 बिहार आईटीआई क्या है ? इसका फॉर्म कब भरा जाएगा ? तथा इस का सिलेबस क्या है पूरी जानकारी यहां पर पढ़ें।

Comments are closed.