IAS क्या है ? IAS कैसे बनते हैं ? IAS बनने के लिए आपकी कितनी शैक्षणिक योग्यता होनी चाहिए ? | UPSC | आईएएस का क्या काम होता है ?

दोस्तों इस आर्टिकल के माध्यम से आप जानेंगे कि आईएएस क्या होता है ? आईएएस कैसे बनते हैं ?आईएएस का क्या काम होता है? तथा आईएएस के कितने पद होते हैं सैलरी कितना मिलता है? पूरी जानकारी यहां पर मिल जाएगा पूरी जानकारी को ध्यानपूर्वक जरूर पढ़ें।

IAS क्या है ?

भारतीय प्रशासनिक सेवा भारत के सबसे सर्वश्रेष्ठ और सम्मानजनक पदों में से एक है आईएएस की परीक्षा देश की सबसे अधिक कठिन परीक्षा होती है जिसकी तैयारी करने के लिए आपको पूरी लगन और मेहनत से करना होता है तभी आप कुछ सालों में इसकी पूरी तैयारी करके एक आईएएस अधिकारी बनते हैऔर देश की सेवा करने योग्य होते हैं।

IAS बनने के लिए आप की शैक्षणिक योग्यता होनी चाहिए ?

साथियों आईएएस (IAS )  की परीक्षा पास करने के लिए आपको भारत के किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से, किसी भी सब्जेक्ट में स्नातक पास होना बहुत जरूरी है। स्नातक में आपका कम से कम 50% अंकों से पास होना अति आवश्यक होता है। तभी आप आईएएस का फॉर्म भर सकते हैं।

IAS परीक्षा का आयोजन किस आयोग द्वारा होता है?

IAS की परीक्षा भारतीय संघ लोक सेवा आयोग जिसे यूपीएससी(UPSC) कहते हैं। उसके द्वारा आयोजित किया जाता है, और भारत के 3 टॉप ऑफिसर पद जिसमें आईएएस(IAS), आईपीएस(IPS) और आईएफएस(IFS) चुने जाते हैं। यह तीनों परीक्षाएं यूपीएससी(UPSC) के द्वारा प्रत्येक वर्ष आयोजित किए जाते हैं।

IAS KA FULL FORM KIYA HOTA HAI ?

इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस ( Indian administrative service)

IAS बनने के लिए न्यूनतम उम्र सीमा क्या है?

आईएएस बनने के लिए न्यूनतम उम्र सीमा 21 वर्ष है लेकिन अधिकतम आयु सीमा वर्ग वर्ग जैसे एससी, एसटी,ओबीसी और जनरल के लिए अलग-अलग व्यवस्था की गई है जिसमें आरक्षित वर्गों का छूट भी दिया गया है।

Genral catogery 32 वर्ष  कोई छूट नहीं 
OBC 35 वर्ष  3 वर्ष  छूट
SC/ST37 वर्ष  5 वर्ष छूट
Handicapped42 वर्ष  10 वर्ष छूट

कितने बार IAS की परीक्षा में भाग ले सकते हैं ? 

जनरल कैटेगरी वह इस परीक्षा को अधिकतम 6 बार दे सकते हैं और वही ओबीसी, पीडब्ल्यूडी विकलांग व्यक्ति के लिए यह परीक्षा देने की संख्या अधिकतम 9 बार है। जबकि अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति के लिए 37 वर्ष तक की कुल आयु तक आप कितनी बार भी इस परीक्षा को दे सकते है। आप जितनी बार चाहे यह परीक्षा दे सकते हैं।

IAS क्लियर करने के लिए तीन परीक्षाओं से गुजरना पड़ता है ।

आईएएस की प्रारंभिक परीक्षा सिलेबस और पैटर्न क्या है?

 विषय No Of Question Marks
सामान्य अध्ययन Paper-1 100 200
सामान्य अध्ययन Paper 2 80200

 

पेपर एक में सभी प्रश्न आपको ऑब्जेक्टिव टाइप के ही पूछे जाते हैं इसमें आपको पूरे 2 घंटे का समय दिया जाता है। दोस्तों इसमें आप सभी को करंट अफेयर्स में राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व की वर्तमान घटनाएं सामान्य विज्ञान,भारत का इतिहास, जलवायु परिवर्तन जैव विविधता, पर्यावरण पारिस्थितिकी,भारतीय राजनीति और शासन संविधान, राजनीति प्रणाली पंचायती राज से भी प्रश्न पूछे जाते हैं।

आईएएस के मुख्य परीक्षा के पैटर्न निम्न है ।

  • Paper 1 निबंध 250
  • Paper 2 सामान्य अध्ययन 250 इतिहास और विश्व का भूगोल
  • Paper 3 सामान्य अध्ययन 2 संविधान, राजनीति, सामाजिक न्याय और अंतरराष्ट्रीय संबंध गवर्नेंस
  • Paper 4 सामान्य अध्ययन 3 सुरक्षा और आपदा प्रबंधन पर्यावरण आर्थिक विकास प्रौद्योगिकी जैव विविधता।
  • Paper 5 सामान्य अध्ययन 4 ईमानदारी और एप्टीट्यूड
  • Paper 6 वैकल्पिक विषय – 1 250
  • Paper 7 वैकल्पिक विषय – 2 50

साक्षात्कार क्या है?

साथियों अगर आप आईएस का तैयारी कर रहे हैं, प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा को पास कर जाने के बाद अंत में साक्षात्कार लिया जाता है। अगर आप इस में सफल होते हैं, तभी आपका मेरिट लिस्ट में नाम आएगा। इसलिए साक्षात्कार में सफल होना अति आवश्यक होता है। साक्षात्कार में आपका व्यक्तित्व के बारे में पूछा जाता है और परखा जाता है। जिससे किसी खास विषय या फिर खास चीजों से सवाल ना पूछ कर जनरल नॉलेज और आपके व्यक्तित्व से जुड़ी सवाल से, आप की परख की जाती है।

IAS अधिकारी का क्या-क्या काम होता है ?

आयुष अधिकारी का जो सबसे प्रमुख कारण होता है वह जिस क्षेत्र का वह अधिकारी हो वहां पर कानून व्यवस्था को हमेशा सुगम बनाए रखना और सरकार के शासन और प्रशासन के जो रोज का काम होता है उसे संभावना और उसे मॉनिटरिंग करना संबंधित मंत्रालय से सलाह करके उस अधिकारी नीति निर्माण और कार्यान्वयन करना भी आईएएस अधिकारी का काम होता है।

जिस अधिक आईएएस अधिकारी जिस क्षेत्र में तैनात होते हैं वहां पर उस क्षेत्र का काम जैसे टैक्स वसूली या राजस्व इकट्ठा करने के लिए आपातकालीन स्थिति के लिए एक आईएएस अधिकारी को हमेशा तैयार रहना होता है। और उसके लिए जो उचित होता उसे अपने हिसाब से प्रबंध करना होता है।

आईएएस अधिकारी का क्या- क्या अधिकार प्राप्त है?

एक आईएएस अधिकारी का इतना पावर होता है कि वह अपने क्षेत्र में दंगा फसाद जिसे सांप्रदायिक विवाद कहते हैं, होने पर उस क्षेत्र को सील करने जिसे हम सभी आम भाषा में कर्फ्यू कहते हैं,लगाने का भी आईएएस अधिकारी को ही अधिकार होता है।

आईएएस की ट्रेनिंग कहां दिया जाता है?

आईएएस परीक्षा के तीनों एग्जाम को पास कर लेने के बाद उम्मीदवारों को आईएएस की जो प्रशिक्षण दिया जाता है। उसमें कुल समय 21 महीने लगता है। इस प्रशिक्षण को पाने के लिए अभ्यर्थी को लाल बहादुर शास्त्री नेशनल एकेडमी ऑफ प्रशासनिक से शुरू होती है। उसके बाद उन्हें लगभग 1 वर्ष के लिए जिला परीक्षण का काम सौंपा जाता है। इस प्रशिक्षण को पूरा करने के बाद ही वे एक आईएएस ऑफिसर की पोस्ट को संभाल सकते हैं या फिर इस योग्य समझे जाते हैं।

Also Read: नई शिक्षा नीति क्या है? कब से लागू होगा पूरी जानकारी यहां पढ़ें। What is the new education policy In India ?

IAS के अंतर्गत कौन कौन से पद आते हैं?

Sdm, sdo, cdo joint collector, Cdo deputy commissioner, dm
Rajasv board ke president
Vibhgagiya aayukt
Board of revenue ke member

IAS अधिकारी का वेतन और अन्य सुविधाएं क्या क्या मिलती है?

एक आईएएस अधिकारी का मूल वेतन 56001 ₹100 प्रतिमा होता है और अन्य भत्ते मिलाकर लगभग महीने का ₹100000 मिलता है इसके साथ अधिकारी कैबिनेट सचिव बनता है तो उसका मासिक वेतन ₹800000 हो जाता है। आईएएस अधिकारी को रहने के लिए एक बहुत बड़ा घर दिया जाता है जिसमें खेती करने लायक योग्य भूमि गार्डन और उसकी देखभाल करने के लिए माली और खाना बनाने के लिए रसोईया भी मुफ्त में दिया जाता है आईएएस अधिकारी को घूमने और ऑफिस जाने के लिए सरकारी गाड़ी सरकारी ड्राइवर और सरकारी खजाने से पेट्रोल-डीजल भी दिया जाता है कुल मिलाकर हम कहे तो एक आईएएस अधिकारी को जितनी भी सुविधा है वह सभी सरकार के तरफ से दिया जाता है।

Also Read : What is paramedical in Hindi पारा मेडिकल कोर्स क्या है? पूरी जानकारी हिंदी में पैरामेडिकल में कितने कोर्स होते हैं ?

 

Comments are closed.